Type Here to Get Search Results !

बिहार के किसानों के लिए अच्छी खबर, नीतीश कुमार कैबिनेट ने डीजल अनुदान 600 से बढ़ाकर 750 रुपये प्रति एकड़ किया

बिहार सरकार ने किसानों को खरीफ फसल की सिंचाई के लिए डीजल अनुदान की राशि बढ़ा दी है। किसानों को अब प्रति एकड़ 750 रुपये ज्यादा डीजल अनुदान मिलेगा।

बिहार के किसानों को नीतीश कुमार सरकार ने तोहफा दिया है। किसानों को धान समेत खरीफ की फसल की सिंचाई के लिए मिलने वाले डीजल अनुदान की राशि 600 रुपये प्रति एकड़ से बढ़ाकर 750 रुपये कर दी गई है। राज्य कैबिनेट ने इसकी मंजूरी दे दी है। सूबे के लाखों किसानों को इसका फायदा मिलेगा।








Bihar Diesel Anudan Yojana Online 2022 || खेतों में पटवन के लिए मिलेगा डीजल अनुदान अप्लाई शुरू ||

 कैबिनेट के अपर मुख्य सचिव डॉ. एस सिद्धार्थ ने कहा कि डीजल की बढ़ी कीमत को देखते हुए प्रति लीटर अनुदान में राज्य सरकार ने 15 रुपये की बढ़ोतरी की है। पहले किसानों को  ताकि किसानों को राहत मिले। मालूम हो कि अनियमित मानसून, सूखे और कम बारिश जैसी स्थिति को देखते हुए राज्य सरकार ने किसानों को डीजल अनुदान देने का निर्णय लिया है। वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए इस मद में 29 करोड़ 95 लाख रुपये अग्रिम राशि के रूप में मंजूर किए गए हैं। 

बिहार के 19 लाख किसानों ने नहीं करवाई ई-KYC, पीएम किसान सम्मान निधि का पैसा चाहिए तो 15 अगस्त तक जरूर करें ये काम

सरकार किसानों को अब तक एक लीटर डीजल पर 60 रुपये अनुदान दे रही थी, अब इस राशि को बढ़ाकर 75 रुपये प्रति लीटर कर दिया गया है। खरीफ फसलों के एक एकड़ की सिंचाई के लिए दस लीटर खपत के अनुमान के आधार पर किसान को प्रति एकड़ 750 रुपये दिये जाएंगे। अधिकतम आठ एकड़ तक की सिंचाई के लिए एक किसान को यह अनुदान मिलेगा। 

ऑनलाइन प्राप्त आवेदन को अधिकतम दस दिनों के अंदर निष्पादित कर किसानों के बैंक खाते में अनुदान का भुगतान किया जाएगा। आवेदन के समय निबंधित पेट्रोल पंप विक्रेता से डीजल खरीद का कंप्यूटराइज्ड वाउचर किसानों द्वारा अपलोड किया जाएगा। किसान द्वारा खरीदे गये डीजल से वास्तविक रूप से सिंचाई हुई है या नहीं, इसकी स्थल जांच संबंधित पंचायत के कृषि समन्वयक करेंगे।

Top Post Ad

Below Post Ad

Ads