Type Here to Get Search Results !

News Updates Bihar :- लालू और CBI का पुराना नाता, RJD चीफ के बाद अब उनका परिवार करेगा जेल का सफर- BJP

बीजेपी ने सीबीआई छापेमारी के बाद लालू परिवार पर तंज किया है और कहा है कि लालू और उनके परिवार का तो सीबीआई से पुराना नाता रहा है. राबड़ी आवास पर छापेमारी की बात कोई नई थोड़े है.
पटना: लालू परिवार एक बार फिर सीबीआई के शिकंजे में है. सोमवार को सीबीआई की टीम ने राबड़ी आवास पर छापेमारी की है. सीबीआई की 12 लोगों की टीम राबड़ी आवास पहुंचकर पहुंची है और लालू परिवार से पूछताछ कर रही है. सीबीआई की टीम तब राबड़ी आवास पहुंची है जब राबड़ी देवी विधानमंडल जाने की तैयारी में थी. कुछ देर पहले ही तेजस्वी यादव विधानसभा के लिए रवाना हुए थे. सीबीआई की टीम के राबड़ी आवास पर पहुंचने के बाद हड़कंप मच गया. सीबीआई की एक टीम ने सीबीआई ने यह कर्रवाई लैंड फॉर जॉब यानी नौकरी के बदले जमीन मामले में काम की है. जमीन के बदले नौकरी का यह मामला तब का है जब लालू यादव केंद्र में रेलमंत्री थे. इस मामले में आरोप है कि उन्होंने लोगों को नौकरी दिलाने के बदले उसकी जमीन ली थी.

लालू परिवार पर बीजेपी का तंज

राबड़ी आवास पर छापेमारी के बाद इसपर बिहार की सियासत फिर गरम हो गई है. बीजेपी ने इसपर तंज किया है. बीजेपी विधायक नितिन नबीन ने कहा है कि लालू यादव और उनके परिवार का सीबीआई रेड से पुराना नाता है. कोई पहली बार नहीं है कि राबड़ी आवास पर सीबीआई छापा मारने पहुंची है. बीजेपी विधायक ने कहा है कि लालू यादव अपनी करनी का फल भुगत रहे हैं.

लालू परिवार भी जाएगा जेल-बीजेपी

नीतिन नवीन ने कहा कि शिवानंद तिवारी और जेडीयू अध्यक्ष ललन सिंह की शिकायत पर लालू परिवार के ऊपर कई केस हुआ. जब केंद्र में कांग्रेस की सरकार थी उस वक्त से ही लालू परिवार पर केस चल रहा है. बीजेपी विधायक और सूबे के पूर्व मंत्री नितिन नवीन ने कहा कि लालू और उनके परिवार ने जो किया है उसका नतीजा अब सामने आ रहा है. लालू परिवार के बाद अब उनका परिवार जेल जाने वाला है.

क्या है पूरा मामला ?

यह मामला लालू यादव के केंद्र में रेल मंत्री रहने के दौरान का है. मामले में जो बात सामने आ रही है उसके मुताबिक इस मामले में लालू प्रसाद यादव, राबड़ी देवी, उनकी दो बेटी, मीसा भारती और हेमा यादव समेत 14 लोगों के खिलाफ आरोप पत्र दायर है. इस मामले में बिना विज्ञापन के ग्रुप डी में 12 लोगों को नौकरी दी गई और बदले में उनसे उनकी जमीन ली गई. पहले उन्हें अस्थाई नौकरी दिया जाता था बाद में जब जमीन का कागजी काम पूरा हो जाता है तब नौकरी को स्थाई कर दिया जाता था.

News Beuro :- tv9hindi.con

Top Post Ad

Below Post Ad

Ads