Type Here to Get Search Results !

Fake Joining Letter Army :- फर्जी ज्वाइनिंग लेटर से आर्मी की नौकरी, मेडिकल के नाम पर पैसे की उगाही, पटना से पकड़े गए तीन शातिर

पटना के दानापुर इलाके से इन शातिरों की गिरफ्तारी हुई है. ये शातिर बड़ी आसानी से लोगों को चूना लगाते थे. इस गिरोह के खिलाफ आर्मी की इंटेलिजेंस विंग को शिकायत मिली थी, जिसके बाद ये कार्रवाई की गई.

पटना. आर्मी में नौकरी पाना चाहते हैं तो इसकी बहाली में शामिल होकर ही भर्ती का तरीका अपनाएं नहीं तो आप भी आर्मी और सरकारी नौकरी दिलाने वाले फर्जीवाड़ा गिरोह का शिकार बन सकते हैं. कुछ ऐसा ही मामला दानापुर से सामने आया है जहां आर्मी में नौकरी दिलाने के नाम पर फर्जीवाड़ा करने वाले गिरोह के 3 सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है. सेंट्रल कमांड इंटेलीजेंस बटालियन लखनऊ और दानापुर पुलिस ने इसका खुलासा किया है.


आर्मी की बहाली को लेकर ये गैंग मेडिकल पास कराने के लिए आर्मी एरिया में बुलाता है. आर्मी में फर्जी बहाली के नाम पर लिए गए पहली किस्त का लगभग 95000 हजार रुपया नगद, आर्मी में फर्जी ज्वाइनिंग लेटर, 12 मोबाइल फोन और एक मोटरसाइकिल समेत कई कागजात को बरामद किया गया है. पकड़े गए लोगों में औरंगाबाद के गेनी गांव के रहनेवाला शमी राज, दानापुर पटना का रहने वाला सतीश उर्फ सन्नी और रामकृष्ण नगर पटना का रहने वाला रंजन दो लोग जिसमें रवि और सोनू नाम के युवक शामिल हैं का सहारा लेकर भोले भाले लोगों को झांसे में लेने का काम करते थे.


भारत के सभी राज्यों से संबधित और बिहार की सभी लेटेस्ट रोजगार समाचार

और स्कॉलरशिप से अपडेटेड रहने के लिए इस ग्रुप में अभी जुड़े.

(अगर आप टेलिग्राम नहीं चलाते हैं तो फेसबुक को फॉलो करें,

ताकि बिहार की कोई नौकरी नोटिफिकेशन  छूटे)

भोले भाले गांव के लोगों को ये लोग निशाना बनाते थे और डायरेक्ट आर्मी की नौकरी दिलाने के लिए पहले आर्मी एरिया में मिलिट्री हॉस्पिटल के पास बुलाते थे और मेडिकल पास कराने के नाम पर पैसे लेते थे.  आर्मी एरिया होने के नाते प्रक्रिया मानकर लोग आसानी से ठगे जाते थे जबकि इन लोगों का आर्मी के किसी व्यक्ति से संबंध भी नहीं होता था. सिर्फ इलाके में बुलाकर ये लोग ठगने का काम करते थे और जो लोग इनके झांसे में आ जाते थे उन्हें फर्जी मेडिकल को भी मैनेज करने का झांसा दे देते थे.

यहां भी देखें 



दानापुर थानाध्यक्ष कमलेशवर प्रसाद सिंह ने दानापुर थाना में 420, 419,467,468,471 धारा के साथ मामला दर्ज किया है जिसमें जिक्र किया है कि आर्मी इंटेलिजेंस लखनऊ के द्वारा सूचना दी गई और समस्तीपुर के एक युवक के आधार पर तीन लोगों की गिरफ्तारी मिलिट्री हॉस्पिटल के बाहरी यात्री शेड के पास से हुई है जिनमें सतीश, रंजन और शमी राज शाामिल हैं. यह खुलासा समस्तीपुर के एक युवक के ठगे जाने के बाद हुआ


भारत के सभी राज्यों से संबधित और बिहार की सभी लेटेस्ट रोजगार समाचार

और स्कॉलरशिप से अपडेटेड रहने के लिए इस ग्रुप में अभी जुड़े.

(अगर आप टेलिग्राम नहीं चलाते हैं तो फेसबुक को फॉलो करें,

ताकि बिहार की कोई नौकरी नोटिफिकेशन  छूटे)

आर्मी इंटेलिजेंस लखनऊ को खबर लगी और फिर जांच शुरू हुई जिसमें समस्तीपुर के ठगे गए युवक ने इंटेलिजेंस के साथ दानापुर पुलिस को बताया कि उससे एक व्यक्ति ने आर्मी का कर्नल बनकर डॉक्यूमेंट की मांग की और पैसे ठगना चाहा. उसी की निशानदेही पर कार्रवाई की गई और यह मामला खुलकर सामने आया. इसमें में आर्मी में ज्वाइनिंग का नकली लेटर, डाक विभाग संचार मंत्रालय जीपीओ में योगदान देने का एक खाली फॉर्म समेत कई आपत्तिजनक सामान सहित 12 मोबाइल और 95000 रुपया कैश बरामद किए गए हैं.

Get Job Alert On

Join Telegram Group

Join Facebook

Join WhatsApp

Join Twitter

Join Instagram

Join YouTube

Join LinkedIn

.

Top Post Ad

Below Post Ad

Ads